कोरोना वैक्सीन - अमेरिका ने कोरोना वायरस वैक्सीन के 30 करोड़ खुराक का ऑर्डर दिया, इस वैक्सीन को एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी साथ मिलकर बनाएँ हैं

कोरोना वैक्सीन - अमेरिका ने कोरोनावायरस वैक्सीन के लिए प्रभावी मानी जाने वाली एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की  की 300 मिलियन (30 करोड़) खुराक हासिल करने के लिए कम्पनी को पहला ऑर्डर दे दिया है।

Corona Virus Vaccine


कोरोना के कारण आज पूरी दुनिया ठप पड़ी है, बड़ी से बड़ी महाशक्ति अपने देश को कोरोना के प्रकोप से बचाने के लिए जद्दोजहद कर रहीं हैं। दुनिया का कोई भी देश कोरोना वायरस से ख़ुद को नही बचा पाया।

Corona Virus Vaccine

ऐसे में दुनिया के सभी देश सिर्फ़ वैक्सीन को ही कोरोना के ख़िलाफ़ आख़री उम्मीद मान कर चल रहे हैं। सभी देश अपनी अर्थव्यवस्थाओं को बचाने, वापस काम चालू करने और लॉकडाउन से मुक्त होने के लिए आज कोरोना की वैक्सीन खोजने में लगे हुए हैं।

इस समय दुनिया की 100 से ज़्यादा रिसर्च टीम और कम्पनीज़ कोरोना की वैक्सीन खोजने में दिन रात लगी हुई हैं।
ऐसे में यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड ने की वैक्सीन में दुनिया को एक उम्मीद दिखी है।

इस वैक्सीन के अभी तक के परीक्षण कुछ हद तक सफल भी हुए हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड की इस वैक्सीन को पूरी दुनिया में सप्लाई करने और बनाने के लिए ब्रिटिश फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने लाइसेन्स लिया है।

AstraZeneca Vaccine

एस्ट्राजेनेका की इसी वैक्सीन के लिए अमेरिका और ब्रिटेन ने कम्पनी के साथ वैक्सीन खरीदने का सौदा किया है। अमेरिका ने एस्ट्राजेनेका से 30 करोड़ वैक्सीन खरीदने का सौदा किया है और ब्रिटेन ने इसी कम्पनी से 10 करोड़ वैक्सीन खरीदने की डील कर ली है।

लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि एस्ट्राज़ेनेका की इस वैक्सीन का परीक्षण ही चल रहा है। अभी यह वैक्सीन पूरी तरह से प्रभावी साबित नही हुई है।

1.2 अरब डॉलर (9,000 करोड़ रुपये) देकर अमेरिका ने एस्ट्राजेनेका से यह सौदा किया है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के कहने के बाद, अमेरिकी स्वास्थ्य विभाग ने एस्ट्राजेनेका के टीके के विकास में तेजी लाने और संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए टीकों की 300 मिलियन खुराक को सुरक्षित करने के लिए $ 1.2 बिलियन में इस सौदे को मंज़ूरी दी है।

अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स अजार का कहना है की यह सौदा अमेरिका के लिए बहुत जरूरी है, ताकि हम फिर से लॉकडाउन से मुक्त होकर जीवन जी सकें। उनका कहना है की 2021 तक COVID​​-19 वैक्सीन को अमेरिका को उपलब्ध कराने का भरसक प्रयास किया जाएगा।

Drugs and vaccines of covid-19

एस्ट्राजेनेका की इस वैक्सीन को यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड ने बनाया है। इस पहले ChAdOx1 nCoV-19 के नाम से जाना जाता था। ब्रिटिश फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने इसके उत्पादन और विपणन का लाइसेन्स लेकर अब इसे AZD1222 के नाम से पूरी दुनिया के लिए बेचने का प्रयास कर रही है। लेकिन अभी भी यह वैक्सीन परीक्षण स्तर पर है इसीलिए दुनिया अभी इस टीके को कोरोना वायरस के ख़िलाफ पुख़्ता वैक्सीन के रूप में नही देख रही।

Treatment of coronavirus

अमेरिका और एस्ट्राजेनेका के बीच किए गए इस समझौते की ख़ास बात ये भी है की अब एस्ट्राजेनेका अमेरिका में 30,000 लोगों पर इस टीके का क्लिनिकल परीक्षण कर सकता है।

कैम्ब्रिज, इंग्लैंड में स्थित एस्ट्राजेनेका ने कहा कि वैक्सीन की अब तक 400 मिलियन खुराक का ऑर्डर हमें मिल चुका है। इसे हम ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर बना रहें हैं।
यूनाइटेड किंगडम ने सबसे पहले एस्ट्राज़ेनेका की 100 मिलियन खुराक के लिए ऑर्डर दिया था इसलिए सबसे पहले ब्रिटेन  को ही वैक्सीन की सप्लाई की जाएगी। ब्रिटेन को सितंबर तक 30 मिलियन खुराक देने की कोशिश की जाएगी।

एस्ट्राज़ेनेका का कहना है की प्रारंभिक चरण के परीक्षण के परिणाम सकारात्मक मिलें हैं, अब हम कई देशों में तुरंत इसके अगले चरण का परीक्षण शुरू करने की कोशिस में हैं।

Vaccine against Coronavirus

इसके साथ ही उत्पादन बढाने के लिए भी कम्पनी काम कर रही है। एस्ट्राज़ेनेका ने कहा कि यह दुनिया भर की सरकारों के साथ बातचीत कर रही है ताकि उत्पादन बढ़ा कर जल्द से जल्द दुनिया की डिमांड को पूरा किया जा सके और कोरोना से मुक्ति मिल सके। उदाहरण के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के साथ भी कम्पनी की बात चल रही है ताकि हम इंडिया में प्रोडक्शन करके पूरी दुनिया की डिमांड का कुछ हिस्सा पूरा कर सकें। कम्पनी के बयान में ये भी जोडा गया की ना सिर्फ़ इंडिया बल्कि कई देशों और कम्पनीज़ से बात चल रही है।

एस्ट्राज़ेनेका की इस वैक्सीन में दुनिया को उम्मीद तो दिखी है लेकिन अब देखना ये है की दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन कौन बना पता है।

इसे भी पढ़ें : इजराइल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल रिसर्च ने 'कोरोना वायरस की वैक्सीन' विकसित कर ली है - पूरी जानकारी पढ़ें

-----------------------------

Topics : International News, AstraZeneca, clinical trail of COVID-19 vaccine, coronavirus vaccine, US ordered vaccine, AstraZeneca USA Deal, Corona Virus Vaccine Deal, Vaccine, vaccine for coronavirus, HPCommonManIssues, vaccine in Britain, vaccine against COVID-19, HHS Secretary Alex Azar, United States ordered vaccine, vaccine in UK, development of vaccine, vaccine for COVID-19, vaccine for clinical trials, Oxford University, Covid-19 vaccine, Covid-19, कोरोना वायरस, News,  America

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां