Breaking News in Hindi – आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले के बंदापल्ली गांव में स्थित एक डेयरी प्लांट में गैस रिसाव की सूचना के बाद गुरुवार शाम को 15-25 से अधिक लोगों को अस्पताल ले जाया गया।

Breaking News in Hindi - Several hospitalised after ammonia gas leak at a dairy in Andhra Pradesh

Breaking News in Hindi – Several Hospitalised after ammonia gas leak at a dairy in Andhra Pradesh

चित्तूर कलेक्टर ने कहा कि अमोनिया गैस का रिसाव हुआ था और अब स्थिति नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि 15 लोग इस समय एक अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती हैं और स्थिर हालत में हैं।

उन्होंने कहा कि हमें जानकारी मिली कि पटलपट्टू के पास हाटसन कंपनी की दूध फ़ैक्टरी में  शाम करीब 5 बजे अमोनिया गैस का रिसाव हुआ था। उस शिफ्ट में काम करने वाले मजदूरों को चित्तूर के अस्पताल में लाया गया था। उनमें से 3 लोग गंभीर हैं, जिन्हें बेहतर इलाज के लिए तिरुपति के SVIMS या Ruia Hospital में शिफ्ट कर दिया गया है।

उन्होंने कहा – अब सभी की हालत स्थिर है। इनमें से सभी महिलाएं हैं। यह अभी तक पता लगाया जाना है कि क्या यह घटना प्रबंधन की लापरवाही या श्रमिकों की लापरवाही का परिणाम है। उद्योग विभाग के महाप्रबंधक और अग्निशमन विभाग के अधिकारी शुक्रवार को जमीनी स्तर पर जाकर स्थिति की समीक्षा करेंगे।

ANI के रिपोर्ट के अनुसार – मंत्री पेड्डीरेड्डी रामचंद्र रेड्डी ने चित्तूर के जिला कलेक्टर से बात की और घटना की जांच के आदेश दिए। साथ ही रेड्डी ने प्रभावित लोगों को बेहतर इलाज के निर्देश दिए।

चित्तूर के पुट्टलापट्टू डिवीजन के अंतर्गत बंधापल्ली गाँव में स्थित, डेयरी का स्वामित्व चेन्नई की एक कंपनी के पास है और इसका उत्पाद तमिलनाडु में काफी लोकप्रिय है। मामले में और जानकारी का इंतजार है।

27 जून शनिवार को आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले में SPY एग्रो इंडस्ट्रीज में अमोनिया गैस रिसाव की घटना सामने आई थी। इस घटना में एक मजदूर की मौत हो गई।

इसके दो दिनों के बाद विशाखापत्तनम के जवाहरलाल नेहरू फार्मा सिटी परवाड़ा, आंध्र प्रदेश में साइनेर लाइफ साइंसेज में एक और गैस रिसाव की घटना सामने आई। दवा कंपनी में गैस रिसाव के बाद दो लोगों की मौत हो गई थी।

इससे पहले मई में Vizag गैस रिसाव त्रासदी ने पांच किलोमीटर के दायरे में गांवों को प्रभावित किया था, इस गैस रिसाव से 12 लोग मारे गए थे और हजारों प्रभावित हुए थे।

कुछ ही महीनों के अंदर गैस रिसाव की इतनी ज़्यादा घटनाओं से लगता है कि आंध्र प्रदेश सरकार सोई हुई है। सरकार को कड़ा ऐक्शन लेना चाहिए था, ताकि सभी कम्पनी मालिक अपनी कम्पनी में सिक्योरिटी पर ध्यान दें।

लेकिन आंध्र प्रदेश सरकार के साथ केंद्र सरकार भी लगता है इस घटनाओं के बारे में आँख बंद करके बैठी हैं। सरकार शायद इंतजार कर रही है की भोपाल गैस त्रासदी जैसी कोई घटना हो और हजारों लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़े तब ये नीद से जगें।

Breaking News in Hindi, Hindi News, Andhra Pradesh News, timesofmp, times of mp, mp times, mptimes, timesmp, timesmp, timesofmp.com, mptimes.com, timesmp.com, bbc hindi, breaking news, Dairy Gas Leak in Chittor