ब्रोकोली, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, गोभी लोगों की सबसे कम पसंदीदा सब्जियों में से कुछ हैं। लेकिन एक नया शोध बताता है कि उन्नत रक्त वाहिका रोग (Advanced Blood Vessel Disease) को रोकने के लिए ये सबसे अधिक लाभकारी होते हैं।

Health Tips - Health Benefits Broccoli, Health Benefits Brussels sprouts and Health Benefits Cabbage

Health Benefits BroccoliHealth Benefits Brussels sprouts and Health Benefits Cabbage

ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन में प्रकाशित शोध में पाया गया है कि पत्तेदार सब्जियों जैसे की ब्रोकली, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, गोभी का अधिक सेवन से वृध्द महिलाओं में गंभीर रक्त वाहिका रोग होने की संभावना कम हो जाती है।

कैंसर से लड़ने वाले गुणों के कारण क्रुसिफेरस सब्जियां यानी पत्तेदार सब्ज़ियाँ अब धीरे धीरे लोकप्रियता हासिल कर रही हैं। ये कोई एक नही बल्कि कई सब्जियां हैं, प्रत्येक का अपना अलग-अलग स्वाद। इनको सलाद के रूप में खाया जा सकता है और पका कर भी खाते हैं लेकिन इनको ज़्यादा नही पकाना चाहिए।

इन सब्जियों के नाम लैटिन शब्द “Crucifix” पर रखा गया है क्योंकि इन पौधे-परिवार के फूल एक क्रॉस के समान होते हैं।

ईसीयू स्कूल ऑफ मेडिकल एंड हेल्थ साइंसेज और यूनिवर्सिटी आफ वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं ने पाया कि अधिक पत्ते वाली सब्जियों को खाने वाले लोगों की महाधमनी (Aorta) में कैल्शियम का ज़्यादा निर्माण होने की संभावना कम थी, जो संरचनात्मक रक्त वाहिका रोग के लिए एक प्रमुख मार्कर होता है।

रक्त वाहिका रोग क्या है? What is blood vessel disease in Hindi?

रक्त वाहिका रोग (Blood Vessel Disease) एक ऐसी स्थिति होती है, जो हमारे रक्त वाहिकाओं (धमनियों और नसों) को प्रभावित करती है और शरीर के चारों ओर रक्त प्रवाह के प्रवाह को कम कर सकती है। रक्त के प्रवाह में यह कमी हमारे रक्त वाहिकाओं की आंतरिक दीवारों, जैसे महाधमनी पर फैट के निर्माण के कारण हो सकती है। फैट का निर्माण कैल्शियम के जमा होने से होता है। फैट और कैल्शियम के जमा होने से दिल का दौरा या स्ट्रोक जैसी जानलेवा समस्या होती है।

प्रमुख शोधकर्ता डॉ लॉरेन ब्लेकेनहॉर्स्ट ने कहा कि क्रूसिफाइड सब्जियों यानी पत्तेदार सब्ज़ियों के हमारे पिछले अध्ययनों में, हमने पहचान की कि इन सब्जियों के अधिक सेवन से क्लिनिकल कार्डियोवस्कुलर डिसीज़ इवेंट, जैसे दिल का दौरा या स्ट्रोक होने का जोखिम कम होता है, लेकिन हमें यकीन नहीं है कि क्यों। लेकिन हमारे इस नए अध्ययन से इसको कारणों का पता चला है।

अब हमने पाया है कि हर दिन अधिक मात्रा में पत्तेदार सब्जियों का सेवन करने वाली वृद्ध महिलाओं को अपने महाधमनी पर व्यापक रूप से कैल्सिफिकेशन होने की संभावना कम होती है। एक विशेष घटक जो क्रूसिफेरस सब्जियों में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, वह विटामिन K है, जो हमारे रक्त वाहिकाओं में होने वाली कैल्सीफिकेशन प्रक्रिया को रोकने में शामिल होता है।

डॉ ब्लेकेनहॉर्स्ट ने कहा कि इस अध्ययन में महिलाओं ने प्रतिदिन 45 ग्राम से अधिक पत्ते वाली सब्जियों का सेवन किया, तो उनमें कैल्सीफिकेशन प्रक्रिया 46 प्रतिशत कम थीं, उनके मुक़ाबले जो प्रतिदिन पत्तेदार सब्जियों का कम सेवन या सेवन ही नही करती थी।

उन्होंने कहा कि सब्जियों को खाने के लिए हमें ना सिर्फ़ ब्रोकली, गोभी और ब्रसेल्स स्प्राउट्स खाना चाहिए बल्कि समग्र स्वास्थ्य के लिए हमें हर दिन कई तरह की सब्जियां खानी चाहिए।

नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के अनुसार – क्रूसिफेरस (पत्तेदार) सब्जियां पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं, जिनमें कई कैरोटेनॉइड (बीटा-कैरोटीन, ल्यूटिन, ज़ेक्सैंथिन), विटामिन सी/ई/के, फोलेट और खनिज शामिल होते हैं। साथ ही ये एक अच्छा फाइबर स्रोत भी हैं। इसके अलावा, पत्ते वाली सब्जियों में ग्लूकोसाइनोलेट्स नामक पदार्थों का एक समूह होता है, जो सल्फर युक्त रसायन होते हैं। ये रसायन सड़ी सब्जियों की तीखी सुगंध और कड़वे स्वाद के लिए जिम्मेदार होते हैं।

यह अध्ययन इस बात की बहुमूल्य जानकारी प्रदान करता है कि पत्तेदार सब्जियों का यह समूह हमारी धमनियों और अंततः हमारे हृदय के स्वास्थ्य में कैसे योगदान दे सकता है। दिल की बीमारी हिंदुस्तान के साथ पूरी दुनिया में मृत्यु का एक प्रमुख कारण है। हृदय रोग के लिए सबसे बड़े कारणों में खराब आहार जिम्मेदार है। एक स्टडी से पता चला की पूरी दुनिया में 65.5 प्रतिशत हृदय रोग खराब और आपौष्टिक भोजन की वजह से होते हैं।