हाइवे के बायपास पर पन्ना-सतना रेल मार्ग के लिए 6 फीट छोटा आरओबी बनाने से नाराज रेलवे के एडीईएन (कंस्ट्रक्शन ) ने सड़क निर्माता कंपनी को इसी बायपास के मुंबई-हावड़ा ट्रैक पर निर्माणाधीन एक अन्य आरओबो के स्पॉन वर्क के लिए ब्लाक देने से इंकार कर दिया है। शर्त है कि श्रीजी पहले पन्ना-सतना रेल मार्ग के त्रुटिपूर्ण आरओबी को सुधारे, तभी उसे मुंबई-हावड़ा रेल लाइन में ओवरब्रिज के लिए ब्लॉक दिया जाएगा।

Railways refuses to give block to constructor for ROB, Satna News
Railways refuses to give block to constructor for ROB, Satna News

रेलवे के एडीईएन (नार्थ) आरपी मीणा ने माना कि उन्हें कंस्ट्रव्शन के एडीईएन संजय पाठक से इस आशय की चिट्ठी मिली है। श्री मीणा ने बताया कि उन्होंने इस सिलसिले में जबलपुर रेल मंडल को पत्र लिख कर मार्गदर्शन मांगा है।

अब क्या होगा?

रेल सूत्रों का मानना है कि अगर 6 फीट छोटे आरओबी के नए सिरे से मेंटीनेंस के मुद्दे पर श्रीजी और रेलवे के बीच पेंच फंसती है, तो सतना-बेला फोरलेन प्रोजेक्ट के इस बायपास को रन-थ्रू करने का काम 6 माह के लिए टल जाएगा। मुंबई-हावड़ा ट्रैक पर 37 मीटर लंबे और 24 मीटर चोड़े 2 स्पांन (स्टील गर्डर) पड़ने हैं। इस पर ओवर ब्रिज बन कर तैयार है।

जानकारों का मानना है कि मुख्य रेल मार्ग पर ब्लॉक के बिना स्पॉन वर्क संभव नहीं है। श्रीजी अगर, पन्ना-सतना रेल लाइन के आरओबी का निर्माण नए सिरे से भी करती है, तो काम पूरा होने से पहले ही बारिश आ जाएगी। बरिश के 4 माह हैवी क्रेन से काम नहीं हो पाएगा। काम लायक धरातल तैयार होने में लगभग 6 माह लग जाएंगे।

आखिर इतना गुस्सा क्‍यों

बेला-सतना फोरलेन प्रोजेक्ट के तहत हाइवे पर यहां बायपास बना रही श्रीजी इन्फ्रा ने पन्ना-सतना रेल लाइन के लिए 6 फीट छोटा आरओबी बनाकर बड़ी भूल की है। आरओबी के सभी 4 पिलर जीएडी ( जनरल अरेंजमेंट ड्राइंग) के विपरीत 1.875 मीटर (6 फीट) छोटे हैं। जबकि जीएडी में फोर-पियर की स्टैंडर्ड हाइट रेल लाइन से 6.7 मीटर तय थी।

इसे भी पढ़ें :   Satna News : सतना ज़िला अस्पताल का 35 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनेगा पोस्ट कोविड वार्ड ॰ सतना समाचार

इसके विपरीत श्रीजी ने न केवल चारों खंभे 4.825 मीटर पर खड़े कर दिए, बल्कि आनन-फानन में 52 मीटर चौड़े इस रेलवे ओवर ब्रिज पर स्टील गर्डर डालते हुए कांक्रीट भी बिछा दी है। ऐसी हालत में नवनिर्मित आरओबी रेलवे के किसी काम का नहीं रह गया है।

खबर है, सतना-पन्ना रेल लाइन के डिप्टी चीफ इंजीनियर आरके पांडेय, एडीईएन (कंस्ट्रवशन) संजय पाठक, एनएचएआई के ईई शंकरलाल और श्रीजी के प्रतिनिधि 26 मार्च को स्थल निरीक्षण करेंगे।

Web Title : Another setback for Satna-Bella Four Lane, Railways refuses to give block to constructor for ROB.

Railways refuses to give block to constructor for ROB, Satna News