VITS महाविद्यालय में Think Win-Win Webinor आयोजित हुआ – satna samachar

VITS महाविद्यालय में थिंक विन-विन अर्थात हमेशा जीत के बारे में सोचें विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया। बेबिनार में वक्ता के रुप में प्राध्यापक प्रशांत मिश्रा ने उक्त विषय पर अपने बिचार साझा करते बताया कि हममें से ज्यादातर अपना मूल्याँकन दूसरों से तुलना एवं प्रतियोगिता के आधार पर करते हैं।

हम अपनी सफलता दूसरों की असफलता में देखते हैं यानि अगर मैं जीता, तो तुम हारे और अगर तुम जीते, तो मैं हारा। इस तरह लाइफ एक जीरो सम गेम बन जाती है। मानो एक ही रोटी हो और अगर का दूसरा रोटी का बड़ा हिस्सा ले लेता है तो मुझे कम मिलेगा, और मेरी कोशिश होगी कि दूसरा अधिक न पाये।

satna news today live Jan 12
satna news today live Jan 12

उन्होंने बताया कि विन-विन जिंदगी को कोऑपरेशन की तरह देखती है, कम्पटीशन की तरह नहीं। विन-विन दिल और दिमाग की ऐसी स्थिति है जो हमें लगतार सभी का हित सोचने के लिए प्रेरित करती है विन-विन का अर्थ है ऐसे समझैते और समाधान जो सभी के लिए लाभप्रद और संतोषजनक हों। इस प्रकार थिंक विन-विन न तो अच्छा होने के बारे में है, और न ही यह कोई शार्टकट है।

Satna Samachar – मारवाड़ी महिला मंडल ने कहानियाँ सुना कर बच्चों का मनोरंजन किया

Satna News – श्री मारवाड़ी महिला मंडल ने अपनी सदस्य महिलाओं बहनों के बच्चों के लिए ऑनलाइन कहानियाँ प्रस्तुत की। इन कहानियों को कार्टून कैरेक्टर के साथ अहमदाबाद से होस्ट ऋचा तुलस्यान के साथ पेश किया गया। जिसका श्रेय उनकी प्यारी मां मधु को जाता है।

इसे भी पढ़ें :   Satna News : सतना में कोरोना से राहत की ख़बर बुधवार को 451 टेस्ट में नही मिला एक भी संक्रमित - सतना समाचार

इस लॉकडाउन में अपनी प्रोफेशनल दीदी ऋचा के साथ ऑनलाइन मीटिंग पर सबने मजे किए। इस मीटिंग में बच्चों को करोना से सेफ्टी के उपाय बताए गए। इस ऑनलाइन मीटिंग में अध्यक्ष सबिता गोबल, उपाध्यक्ष अपर्णा अग्रवाल, सचिव ज्योति चमडिख़ा, कोषाध्यक्ष लता केजरीवाल, मधु सफरिया, राखी सफरिया, रुचि बंसल, दीपा सफरिया, इंदु, निधि, ललिता, पूजा, आंचल, रीता, रजनी, निकीता, निशा और बहुत से बच्चें मौजूद रहे।

स्वास्थ्य के लिए हानिकारक नकली समान – satna news in hindi

लम्बे कद के साथ हाई हील में पहनना बहुत महंगा पड़ सकता है क्योंकि इन्हें पहन कर गिरने पर शरीर में चोट लग सकती है। इन्हें पहनने से घुटनों तथा पीठ की समस्याएं तथा पिंडली की मांसपेशियां छोटी हो सकती है। सबसे बड़ी समस्या है ओस्टियो आर्थराइटिस की हो सकती है।

इनकी वजह से पिंडली की मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है। पीठ में दर्द तथा टैंडो-एकिलीज टैंडन जैसी समस्याएं हो जाती हैं। कुछ महिलाएं सड़क किनारे बिकने बाले सस्ते सनग्लासेज को खरीदने को हमेशा लालायित रहती हैं।

कइयों को लगता है कि यदि ये कहीं खो भी गए या इन्हें उनसे कोई मांग कर भी ले गया तो भी कोई फर्क नहीं पड़ेगा। इन्हें लम्बे समय तक पहनने से ये आपको काफ नुकसान पहुंचा सकते हैं। इनसे तेज सिरदर्द तथा धुँधलापन दिखाई देने लगता है। इसलिए ऐसे नकली और सस्ते सामान का उपयोग करके ख़ुद बीमारियों को निमंत्रण न दें।