Panni Khoh Waterfall – पन्नी खोह जलप्रपात, मैहर का एक छिपा हुआ रत्न

Panni Khoh Waterfall, Maihar, Satna District – Madhya Pradesh (MP): सतना ज़िले के मैहर में स्थित सबसे खूबसूरत जगह पन्नीकोह जलप्रपात है। मैहर एक प्रमुख धार्मिक स्थल है, जो हजारों आगंतुकों को आकर्षित करता है, पन्नीकोह झरना एकांत और भीड़ से दूर रहता है। आप यहाँ बारिश के मौसम में घूमने जा सकते हैं। इस लेख में पन्नी खोह जलप्रपात (Panni Khoh Jalaprapat) की पूरी जानकारी दी गई है।

Panni Khoh Waterfall : पन्नी खोह जलप्रपात

पन्नी खोह जलप्रपात भारत के मध्य प्रदेश के सतना जिले में स्थित एक मनोरम जलप्रपात है। विशेष रूप से बरसात के मौसम में यह एक दर्शनीय स्थल है। इस समय के दौरान झरना अपने सबसे शानदार रूप में होता है, क्योंकि पानी ऊंची पहाड़ियों से स्वतंत्र रूप से बहता है। हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि झरना केवल बरसात के मौसम में ही सुलभ है। नवरात्रि का त्यौहार भी इसी समय पड़ता है, जिससे यह पर्यटकों के घूमने का एक लोकप्रिय समय बन जाता है।

जलप्रपात के आसपास का क्षेत्र हरा-भरा है, जो जलप्रपात आने वाले सैलानियों के लिए शांतिपूर्ण सैर प्रदान करता है। पन्नी खोह जलप्रपात (Panni Khoh Jalaprapat) पर पहुंचने पर, आगंतुकों को एक ऊंचे पहाड़ से झरने के झरने के मनमोहक दृश्य का आनंद मिलता है। झरना प्रकृति से घिरा हुआ है और पानी नीचे एक पूल में बहता है। पास में एक मंदिर भी है, जहां एक महान संत ने तपस्या की थी। यह मंदिर अब बन रहा है और यह पहाड़ की गुफा पर बना हुआ है।

दोस्तों और परिवार के साथ समय बिताने के लिए झरना एक सुंदर और शांत जगह है। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि पानी खोह झरने का दौरा अकेले करना खतरनाक हो सकता है, इसलिए एक समूह के साथ जाने की सिफारिश की जाती है।

झरने का रास्ता कुछ जगहों पर चुनौतीपूर्ण हो सकता है, खासकर नदी पार करते समय। अच्छे ग्राउंड क्लीयरेंस वाले वाहन लेने की सिफारिश की जाती है, लेकिन किसी वाहन को जलप्रपात के बहुत करीब ले जाना जोखिम भरा हो सकता है।

स्थान (Location) – Panni Khoh Jalaprapat

पन्नी खोह जलप्रपात सतना जिले के मैहर शहर में स्थित है। मैहर एक लोकप्रिय धार्मिक स्थल है, जो साल भर शारदा माता मंदिर में लाखों आगंतुकों को आकर्षित करता है। जलप्रपात शहर से लगभग 16 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और सड़क मार्ग से पहुँचा जा सकता है, हालाँकि जलप्रपात तक पहुँचने के लिए वन पथ के माध्यम से एक छोटा ट्रेक आवश्यक है।

पन्नी खोह जलप्रपात तक जाने के लिए, आगंतुक जंगल, नदी और पहाड़ी इलाकों के संयोजन से होकर गुजरेंगे। ट्रेकिंग करते समय सतर्क रहना जरूरी है, क्योंकि रास्ता उबड़-खाबड़ है। जो लोग पर्वतारोहण करना पसंद करते हैं वे जंगल के रास्ते से जलप्रपात तक पहुँच सकते हैं जो मैहर मंदिर से शुरू होता है और लगभग 6 से 7 किलोमीटर की दूरी तय करता है।

पन्नी खोह जलप्रपात/झरने तक कैसे पहुंचे : How to Reach Panni Khoh Waterfall in Hindi

पन्नी खोह जलप्रपात मैहर, मध्य प्रदेश, भारत में स्थित है। जलप्रपात तक पहुँचने के कई रास्ते हैं, जिनमें कार, बस या ट्रेन शामिल हैं।

  • कार द्वारा: पन्नी खोह जलप्रपात तक पहुँचने का सबसे आसान और सुविधाजनक तरीका कार है। आप सतना से ड्राइव कर सकते हैं, इसमें लगभग 1 घंटा 30 मिनट से 2 घंटे का समय लगेगा।
  • बस द्वारा: सतना और आसपास के अन्य शहरों से मैहर के लिए नियमित बस सेवाएं उपलब्ध हैं। मैहर से, आप टैक्सी किराए पर ले सकते हैं या झरने तक पहुँचने के लिए स्थानीय बस ले सकते हैं।
  • ट्रेन द्वारा: पन्नी खोह जलप्रपात का निकटतम रेलवे स्टेशन सतना रेलवे स्टेशन है जो भारत के प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। स्टेशन से आप झरने तक पहुँचने के लिए टैक्सी या बस ले सकते हैं।
  • वायु मार्ग द्वारा: पन्नी खोह झरने का निकटतम हवाई अड्डा खजुराहो हवाई अड्डा है जो झरने से लगभग 150 किमी दूर है। हवाई अड्डे से, आप झरने तक पहुँचने के लिए टैक्सी या बस ले सकते हैं।

Route : पन्नी खोह जलप्रपात का मार्ग

पन्नीखोह जलप्रपात मैहर क्षेत्र में स्थित है और माँ शारदा मंदिर के पश्चिम की ओर है। झरने तक पहुँचने का रास्ता आल्हा मंदिर के बगल से शुरू होता है। मार्ग एक पगडंडी है जो आल्हा तालाब और आल्हा अखाड़ा के बीच चलती है, जहाँ पन्नीखोह झरना स्थित है। यहां का नजारा काफी मनमोहक है और कई लोग रोजाना झरने देखने आते हैं।

जलप्रपात की यात्रा एक साहसिक है, क्योंकि कोई सड़क नहीं है, केवल उतार-चढ़ाव वाला एक स्पष्ट रास्ता है, एक चट्टानी मार्ग जो 90 मीटर लंबा है, और एक उथली नदी है जिसे पार करना होगा। इस रास्ते पर चलते समय वन्य जीवों से सावधान रहना जरूरी है। हालांकि, अंत में शांत जंगल और शांत जलप्रपात यात्रा को इसके लायक बनाते हैं। एक बार पहुंचने के बाद, आप शांत वातावरण में बैठ सकते हैं और आराम कर सकते हैं।

Review – समीक्षा (Panni Khoh Jalaprapat)

पन्नीखोह एक साहसिक गंतव्य है जो एक कठिन लेकिन सुरम्य मार्ग प्रदान करता है। प्राकृतिक दृश्य लुभावने हैं और यह उन लोगों के लिए अत्यधिक अनुशंसित है जो बाहरी भ्रमण का आनंद लेते हैं। पन्नीकोह का जलप्रपात विशेष रूप से शानदार है। यहाँ पर आपको विभिन्न छोटे जंगली जानवरों जैसे केकड़ों, सूअरों और विभिन्न प्रकार के पक्षी देखने को मिलेंगे।

इसके अतिरिक्त, झरने के आसपास के क्षेत्र में कई खाद्य पेड़ हैं। पास में एक आश्रम भी है जहां दो साधु निवास करते हैं, जो पहाड़ से पानी पीते हैं। पास के पहाड़ पर चढ़ना एक यादगार अनुभव होगा, जहाँ आप बादलों को छू सकते हैं। हालाँकि, मधुमक्खियों और जंगली जानवरों के बारे में जागरूक होना ज़रूरी है क्योंकि अगर उन्हें परेशान किया जाए तो वे खतरनाक हो सकते हैं।