Advertisement

Satna News (सतना समाचार) : आकांक्षा योजना के तहत अनुसूचित जनजाति के छात्र (जो मध्य प्रदेश के मूल निवासी हैं) जिन्होंने दसवीं कक्षा में अध्ययन करते हुए कक्षा 10वीं में 60 प्रतिशत या उससे अधिक अंक प्राप्त किए हैं, वो आकांक्षा योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा यहाँ के मूल निवासियों के लिए फ्री कोचिंग देने के लिए चलाई जा रही आकांक्षा योजना में आवेदन की अंतिम डेट 7 अप्रैल है। अगर उम्मीदवार 11वीं और 12वीं कक्षा में अध्ययन करते हुए देश में होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओ जैसे – JEE, AIMS, NEET, CLAT के लिए 2 वर्षों की कोचिंग करना चाहते हैं, जिसके लिए सरकार की तरफ़ से फीस का भुगतान किया जाता है, तो आवेदन करें।

इन सभी राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षाओं (JEE, AIMS, NEET, CLAT) के लिए सरकार की तरफ़ से मध्यप्रदेश राज्य के चार संभागीय मुख्यालयों (जबलपुर, इंदौर, भोपाल और ग्वालियर) में कोचिंग दिलवाई जाती है।

Advertisement

आकांक्षा योजना में आवेदन करने के बाद छात्रों का चयन एक परीक्षा के माध्यम से किया जाता है। सत्र 2021-22 के लिए आकांक्षा योजना के द्वारा छात्रों के चयन के लिए जो परीक्षा होने वाली है, उसके लिए आवेदन (Aakanksha Scheme Application) की लास्ट डेट बढ़ा कर 7 अप्रैल 2021 कर दी गई है।

इसलिए अब इच्छुक उम्मीदवार आकांक्षा योजना की चयन परीक्षा के लिए 7 अप्रैल 2021 तक MPTAS Portal पर आवेदन कर सकते हैं।

क्या है आकांक्षा योजना ?

आकांक्षा योजना मध्यप्रदेश सरकार द्वारा यहाँ के अनुसूचित जनजाति वर्ग के मूल निवासियों के लिए शुरू की गई एक फ्री कोचिंग योजना है। इसके द्वारा चयनित छात्रों को राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षाओं जैसे JEE, AIMS, NEET, CLAT के लिए फ्री कोचिंग दी जाती है। कोचिंग की फीस का भुगतान मध्यप्रदेश सरकार की तरफ़ से किया जाता है।

Advertisement

Web Title : Last date for application of Akanksha scheme is 7 April – Satna News. #Satna Educational News

Advertisement