Advertisement

Maihar News (मैहर समाचार): सतना (Satna) जिले के मैहर क्षेत्र के नादन ग्राम पंचायत में शासन द्वारा संचालित शासकीय आयुर्वेदिक औषधि केंद्र की हालत किसी पुराने ज़माने के खंडहर जैसी हो गई है. इस खंडहर जैसे शासकीय आयुर्वेदिक औषधि केंद्र को देखकर मरीज और गंभीर बीमारी से ग्रसित हो सकता है। मानसिक तनाव से पीड़ित हो सकता है। केंद्र की हालत ऐसी हो गई है, जिसमें कोई इंसान तो दूर, जानवर भी ना रह पाए फिर भी अधिकारियों को शायद कुछ दिखाई नही देता है।

गौरतलब हो कि वर्षों पुरने शासकीय आयुर्वेदिक औषधि केंद्र का भवन इतना जर्जर है कि अंदर घुसने के बाद लगता है किसी भूतिया फिल्म के सेट पर पहुँच गए हों इतना भयानक लगता है कि केंद्र को देखकर ही मरीज़ की साँस फूल जाए।

Maihar News – Ruins become the Government Ayurvedic Center located in Nadan of Maihar in Satna district

ऐसा लगता है जब ये भवन बना उसके बाद कभी इसमें पेंट भी नही करवाया गया। इस केंद्र में अभी डॉक्टर सहित करीब चार लोग पदस्थ हैं, उसके बाद भी शासकीय आयुर्वेदिक औषधि केंद्र केवल एक महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता के सहारे चल रहा है।

Advertisement

यही नहीं मौके पर रखी सालों से आयुर्वेद की दवाओं का भी लगता है, कि कभी इस्तेमाल ही नहीं हुआ। सब सड़ती हुई पड़ी है, जिनमे धूल जमी है। इनमे से अधिकतर दवाइयाँ एक्सपायरी डेट भी हो चुकी है। जिसको
हटाया तक नहीं गया।

एक तरफ़ से कोरोना महामारी में लोगों को ना तो सही इलाज मिल पाता है और ना ही डॉक्टर मिल पाते हैं, दूसरी तरफ़ ये केंद्र किसी मज़ाक़ से कम नही है, जो ग़रीब जनता के मुँह में तमाचा मारने के समान है। मनमानी ही हद ये है की आज इस केंद्र में आपको 1 महिला कार्यकर्ता के अलावा कोई नही मिलेगा, जबकि सरकार ने यहाँ 1 डॉक्टर की ड्यूटी भी लगाई है।

नादन का यह शासकीय आयुर्वेदिक औषधि केंद्र मनमानी की तरह चलता है। मौके पर जब देखा गया तो इस भारी महामारी के दौर में शासन द्वारा हर स्तर पर लोगों की मदद को लेकर अंग्रेजी एवं आयुर्वेदिक दवाओं का भरपूर दवाएं उपलब्ध करा रही है। शहर से लेकर गांवों तक लोग इलाज के लिए दर-दर भटक रहे हैं।

Advertisement

लेकिन इस केंद्र की मनमानी देखिए की पिछली कोरोना महामारी में त्रिफला चूर्ण आई थी लेकिन इस बार त्रिफला चूर्ण अभी तक केंद्र में नहीं आया। सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार कई महीनों से किसी भी प्रकार की कोई आयुर्वेदिक दवाई यहां नहीं आई। लोगों ने जिला कलेक्टर से जांच की मांग की है।

अब देखते हैं कि मीडिया में ये ख़बर आने के बाद क्या शासन-प्रशासन के कान में ज़ू रेंगती है या नही। अभी तो लोग बस इसको देख कर सोच सकते हैं, क्योंकि यहाँ के ज़िम्मेदार लोगों की मनमानी रोकने वाला कोई नही है।

Web Title : Satna News :- Maihar News – Ruins become the Government Ayurvedic Center located in Nadan of Maihar in Satna district.

Advertisement
Advertisement