Top 15 Unbelievable Coincidences in Hindi (दुनिया के 10 अविश्वसनीय संयोग) : हमारी इस पृथ्वी में कभी-कभी कुछ ऐसी घटनाएँ हो जाती हैं, जो हमारे दिमाग़ में कई तरह के सवाल को जन्म देती हैं। कभी-कभी हम कुछ ऐसा देखते हैं या सुनते हैं जिससे हमें झटका लगता है और हम सोचने लगते हैं कि दुनिया में ऐसा भी होता है क्या?

Contents show

दुनिया में बहुत से संयोग (Coincidences) बन जाते हैं, जिनकी संभावना बिल्कुल भी नही होती लेकिन फिर ही ऐसे संयोग बन जाते हैं, जो हमारे दिमाग़ में लाखों सवाल पैदा करते हैं। जैसे – ये कैसे हुआ? क्यूँ हुआ? क्या यह मुमकिन है?

यहाँ पर हम दुनिया में हुए 10 सबसे अविश्वसनीय संयोग के बारे में जानेंगे (Top 10 Unbelievable Coincidences in Hindi), जिसे सुन कर आप भी इसके जवाब खोजने की कोशिश करेंगे :

Top 15 Unbelievable Coincidences in Hindi

अगर किसी दिन आप किसी ऐसे दोस्त से टकराते हैं, जिसने आपके जैसी ही टी-शर्ट पहनी है, तो क्या आप इसे संयोग कहेंगे? अगर उसी दोस्त का जन्मदिन आपके जन्मदिन से मैच करे तो फिर आप उसे क्या कहेंगे? तो शायद आप इसे इत्तेफाक कहेंगे? लेकिन यह कहने के लिए कि यह दोस्त उसी अस्पताल में पैदा हुआ था, जहां आप पैदा हुए थे और अंतर केवल इतना था कि उसका कमरा नंबर 102 था और उसका कमरा नंबर 201 था। आप इसे क्या कहेंगे? संयोग? या फिर किसी फिल्म की कहानी? या कोई ब्रह्मांडीय संबंध जिसको समझने की क्षमता हमारे पास नहीं है?

Unbelievable Coincidences in Hindi
Unbelievable Coincidences in Hindi

एक ही समय में बहुत सी चीजें होती हैं, लेकिन कुछ घटनाएं इतनी बारीकी से जुड़ी होती हैं कि यह दुर्लभ और अविश्वसनीय लगता है। यहां हम दुनिया के ऐसे 15 संयोग हैं के बारे में बताने वाले हैं, जो आपको चौंका देंगे। Top 15 Unbelievable Coincidences in Hindi नीचे दिए गए हैं :

पुनर्जन्म (Reincarnation)

Reincarnation Unbelievable Coincidences in Hindi
Reincarnation Unbelievable Coincidences in Hindi

ऊपर दी गई फोटो में आपको लग रहा होगा की दोनों फोटो एक ही व्यक्ति की हैं, लेकिन ये दोनों अलग-अलग इंसान हैं। पहले व्यक्ति Ferrari कंपनी के संस्थापक ‘Enzo Ferrari’ हैं। जबकि फोटो में दिख रहा दूसरा इंसान जर्मन फुटबॉलर ‘Mesut Ozil’ हैं। Enzo Ferrari की मौत 1988 में हुई थी उसके लगभग 1 महीने बाद Mesut Ozil का जन्म हुआ था।

इसे भी पढ़ें :   वाई-फाई सिग्नल नही आ रहा था, छत पर ही बना दिया एफिल टॉवर

समय यात्रा (Time Travel)

यहाँ पर दिया गया तीसरा संयोग (Coincidences) समय यात्रा (Time Travel) का बेहतरीन सबूत है। नीचे दी गई फोटो को देखिए, आपको लगेगा कि दोनों जुड़वाँ बहन हैं। लेकिन ऐसा नही है।

Time Travel Unbelievable Coincidences in Hindi
Time Travel Unbelievable Coincidences in Hindi

फोटो में पहली महिला Zubaida Tharwat हैं, जो अपने समय में बहुत ही महँगी अभिनेत्री (Actress) थी। जबकि दूसरी महिला Jennifer Lawrence है, जो आज के समय में हॉलीवुड की सबसे महँगी अभिनेत्री (Actress) है। यानी एक ही चेहरा एक ही काम बस समय अलग-अलग है।

टाईटैनिक जहाज़

कहा जाता है कि जो होता है वो पहले से क़िस्मत में लिखा होता है। कुछ यही कहानी Titanic जहाज़ की भी है। वर्ष 1898 में Titanic जहाज़ के डूबने से 14 साल पहले ‘Morgan Robertson’ एक किताब लिखी थी, जिसका नाम था ‘Futility’. इस किताब में एक जहाज़ की कहानी है, जो समुद्र में डूब जाता है सबसे रोचक बात ये है कि उस जहाज़ को Titan नाम दिया गया था।

अगर आप सोच रहे हैं कि सिर्फ़ इतना ही संयोग था तो आपको बता दें कि किताब में वर्णित जहाज़ और असली Titanic जहाज़ दोनों की तकनीकी विशेषताएँ एक समान थी। और दोनों ही जहाज़ उत्तर अटलांटिक में बर्फ़ से टकरा कर डूब गए थे। टाईटैनिक जहाज़ के डूबने के बाद इस किताब को ‘The Sinking of The Titan’ नाम से फिर से प्रकाशित किया था।

Simpsons’s Prediction in 2000 (वर्ष 2000 में सिम्पसंस की भविष्यवाणी)

Simpsons ने वर्ष 2000 में ही एक फोटो और कहानी के माध्यम से ये बता दिया था की Donald Trump अमेरिका के राष्ट्रपति (President) बनेंगे। उस समय लोगों ने Simpsons की फोटो को एक मज़ाक़ के रूप में लिया था। लेकिन आज सबको पता है की Donald Trump अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति (20 जनवरी 2017 से 20 जनवरी 2021 तक) थे।

Unbelievable Coincidences in Hindi About Simpsons Prediction
Unbelievable Coincidences in Hindi About Simpsons Prediction

तो क्या उन्होंने 2000 में ही भविष्य देख लिया था। ये तो सोचने वाली बात है, लेकिन इससे भी बड़ी आश्चर्य की बात ये है कि Simpsons ने जिस तरह से चुनाव अभियान को प्रस्तुत किया था, ठीक उसी तरह Donald Trump ने अपने चुनाव अभियान की शुरूआत करके अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे।

जहाज़ दुर्घटना में बचे सभी लोगों में एक बात समान थी

  • 5 दिसंबर, 1660 को एक जहाज डूब गया था। केवल एक व्यक्ति जीवित बचा था और उसका नाम ह्यूग विलियम्स था।
  • 5 दिसंबर, 1767, एक और जहाज डूब गया था। 127 लोग मारे गए लेकिन एक आदमी बच गया। उसका नाम ह्यूग विलियम्स था।
  • 8 अगस्त, 1820 एक पिकनिक बोट टेम्स नदी के पास डूब गई। केवल एक ही व्यक्ति ज़िंदा बचा था और उसका नाम ह्यूग विलियम्स था।
  • 10 जुलाई 1940 को एक ब्रिटिश नाव डूब गई थी उसमें सिर्फ 2 लोग ही बच सके। एक आदमी और उसका भतीजा, दोनों का नाम ह्यूग विलियम्स था।

जिस तारीख इस्तीफा अगले वर्ष उसी तारीख को केजरीवाल की जिंदगी बदली

अरविंद केजरीवाल ने 14 फरवरी 2014 को अपना इस्तीफा दे दिया और ठीक एक साल बाद (चुनाव जीतने के बाद) उन्होंने 14 फरवरी 2015 को दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी।

तेंदुलकर और कोहली के स्कोर समान पैटर्न वाले

भारत में क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर और उभरते हुए सितारे विराट कोहली के बीच संयोग पर विश्वास करना मुश्किल है। साल 1999 में मेलबर्न में खेले गए पांचवें टेस्ट मैच में सचिन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 19वें ओवर में 1000 रन पूरे किए थे।

इसे भी पढ़ें :   छत्तीसगढ़ में अजूबा - नाक की जगह आँख वाले बकरे का जन्म, अनोखे बकरे को देखने के लिए लगी भीड़ : Hindi News

15 साल बाद विराट कोहली ने भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांचवें टेस्ट मैच में मेलबर्न में 1000 रन पूरे किए और वह भी 19वें ओवर में। वे दोनों ही 26 साल के थे जब उन्होंने यह उपलब्धि हासिल की और वे दोनों एमआरएफ के बल्ले से खेल रहे थे।

मार्क ट्वेन (Mark Twain) ने अपनी मृत्यु की सटीक भविष्यवाणी की थी

प्रसिद्ध लेखक, मार्क ट्वेन ने 1909 में कहा था, “मैं 1835 में हैली के धूमकेतु के साथ जन्म लिया था। यह अगले साल फिर से आ रहा है, और मैं इसके साथ इस दुनिया से जाने की उम्मीद करता हूं। अगर मैं नहीं जाता हूं तो यह मेरे जीवन की सबसे बड़ी निराशा होगी। 21 अप्रैल, 1910 को धूमकेतु के पृथ्वी के सबसे करीब पहुंचने के एक दिन बाद दिल का दौरा पड़ने से उनकी मृत्यु हो गई थी।

जुड़वाँ भाई जिनकी मृत्यु ठीक उसी तरह एक ही सड़क पर एक ही व्यक्ति के हाथों हुई

नेविल (Neville) और एर्स्किन एबिन (Erskine Ebbin), दो भाइयों की 17 वर्ष की आयु में एक टैक्सी दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी। दिलचस्प बात यह है कि दोनों की मौत एक साल के अंतराल में हुई, जब दोनों एक ही मोपेड पर सवार थे। इससे भी अधिक आश्चर्य की बात यह है कि एर्स्किन की दुर्घटना उसी टैक्सी से हुई जिसने नेविल को मारा था। और सोचो क्या, टैक्सी वाला वही आदमी था जिसने नेविल को मारा था। बात अविश्वसनीय जरूर है, लेकिन सही है।

एक दूसरे के नाम पर फिल्में

2013 में अभिनेता राजकुमार राव ‘शाहिद’ नाम की फिल्म में नजर आए और कुछ दिनों बाद शाहिद कपूर की एक फिल्म आई और उसका नाम ‘आर… राजकुमार’ रखा गया। अब आप इसे क्या कहेंगे संयोग (Coincidence) या कुछ और।

मेजबान अगले साल का टी-20 जीतता है

टी-20 विजेताओं का अजीब संयोग (strange coincidence) है। T-20 World Cup में वो टीम जीत दर्ज करती है, जो पिछले T-20 World Cup में मेजबान थी। नीचे लिस्ट देखें।

  • 2009 मेजबान – इंग्लैंड, विजेता-पाकिस्तान।
  • 2010 में होस्ट – वेस्टइंडीज, विजेता इंग्लैंड।
  • 2012 में होस्ट – श्रीलंका, विजेता-वेस्टइंडीज।
  • 2014 में होस्ट – बांग्लादेश, विजेता-श्रीलंका।

जॉनी ब्रावो ने 9/11 हमले के बारे में संकेत दिए थे

बहुत से लोग जॉनी ब्रावो के कार्टूनों को पसंद करते हैं लेकिन कुछ लोगों ने कुछ बहुत ही अजीब देखा जो अप्रैल 2001 के एक एपिसोड में हुआ था। दो जलती हुई इमारतों के साथ एक पोस्टर था और उस पर ‘कमिंग सून’ लिखा हुआ था। पांच महीने बाद, 9/11 हुआ। इसमें दो इमारतें आग के गोले में तब्दील हो गई थी।

सचिन तेंदुलकर, माइकल क्लार्क और एलिस्टेयर कुक के बीच अजीब कनेक्शन

अब तक तेंदुलकर ने 200 टेस्ट मैचों में 51 शतकों के साथ 15,921 रन बनाए हैं। यदि आप माइकल क्लार्क और एलेस्टेयर कुक के रनों को जोड़ दें तो यह तेंदुलकर के समान ही होगा।

जुड़वाँ बच्चे जो सालों बाद मिले थे, संयोग कि उनके परिवार में सभी का नाम बिल्कुल एक जैसा था

जिम स्प्रिंगर और जिम लुइस, दो समान दिखने वाले भाई बचपन में ही अलग हो गए थे और 39 साल की उम्र में वे फिर से मिले। अब तैयार हो जाओ और होश उड़ाने वाला संयोग जानने के लिए।जब वे मिले, तो उन्होंने पाया कि दोनों ने लिंडा नाम की महिला से शादी की थी और फिर तलाक ले लिया। फिर उन दोनों ने दोबारा शादी कर ली और महिलाओं का नाम बेट्टी था। उन दोनों का एक बेटा हुआ, जिसका नाम जेम्स एलन था। यहां तक कि उनके कुत्तों का भी समान नाम था, टॉय।

इसे भी पढ़ें :   क्या आपने कभी सुना है बर्गर-नूडल के साथ कप-प्लेट भी खा सकते हैं ? लेकिन ये सच है

वो शख्स जो मरने के बाद भी बिजली से नहीं बच पाया

प्रथम विश्व युद्ध के दौरान समरफोर्ड नाम का एक ब्रिटिश आर्मी मेजर था। एक युद्ध के दौरान, आसमानी बिजली गिरी और उसके पैरों को लकवा मार गया। फिर वह कनाडा चला गया जहां मछली पकड़ने के दौरान उसे बिजली गिरी और उसके शरीर का दाहिना हिस्सा बेकार हो गया। उसे ठीक होने में दो साल लग गए।

गर्मियों में, वह पार्क में टहल रहा था, तभी फिर से बिजली गिरी। इस बार वह पूरी तरह से लकवा ग्रस्त हो गया था। मेजर समरफोर्ड की दो साल बाद मृत्यु हो गई। लेकिन आसमानी बिजली ने उसका पीछा नही छोडा। मृत्यु के चार साल बाद, उसकी कब्र फिर से बिजली की चपेट में आ गई और वह क्षतिग्रस्त हो गई।

एक ही नाम वाली दो महिलाएँ

भारत की तरह ही, अमेरिका में हर नागरिक को एक सामाजिक सुरक्षा नंबर दिया जाता है। कंप्यूटर में खराबी आने पर दो महिलाओं को एक ही सुरक्षा नंबर दिया गया। जब उन्हें ऑफिस बुलाया गया तो जो खुलासा हुआ वह चौंकाने वाला था।

  • दोनों का एक ही नाम था, पेट्रीसिया एन. कैंबेल।
  • दोनों के पिता का नाम रॉबर्ट कैंबेल था।
  • दोनों का जन्म 13 मार्च 1941 को हुआ था।
  • दोनों की शादी 1959 में सेना में एक आदमी से हुई थी।
  • दोनों के 21 और 19 वर्ष के दो बच्चे थे।
  • दोनों को ऑइल पेंटिंग पसंद थी।
  • दोनों ने कॉस्मेटोलॉजी की पढ़ाई की थी।
  • दोनों ने लेखा विभाग में काम किया था।

अब आप इसे संयोग कहेंगे या वास्तव में कंप्यूटर को दोष दे सकते हैं?

जापान को कई हमलों से बचाने वाला दैवीय तूफान

13वीं शताब्दी में, मंगोलों ने जापान को जीतने का फैसला किया, लेकिन जब वे जापान के हाकाटा बंदरगाह पहुंचे, तो उनका स्वागत एक आंधी ने किया था, इस आंधी की वजह से मंगोलों ने जापान से दूर जाना ही सही समझा। फिर उन्होंने गर्मी के मौसम में जापान पर हमला करने का फैसला किया। इस बार फिर एक आंधी ने उन्हें रोक दिया।

अंधविश्वासी मंगोलों ने महसूस किया कि जापान की रक्षा कोई दैवीय शक्ति करती है इसलिए जापान पर विजय असंभव है। उन्होंने फिर कभी हमला नहीं किया। हैरानी की बात यह है कि इस तरह के तूफान गर्मी के मौसम में नहीं आते।

जेम्स बॉन्ड नाम का लड़का जिसकी परीक्षा संख्या 007 थी

1990 में ब्रिटेन में जेम्स बॉन्ड नाम के एक 15 वर्षीय लड़के ने परीक्षा दी और उसके पेपर का नंबर 007 था। यही नंबर फ़िल्म में भी इस्तेमाल हुआ था।

गोली चलने के 20 साल बाद एक आदमी को लगी

टेक्सास के हेनरी ज़िगलैंड नाम के शख्स ने अपनी गर्लफ्रेंड को छोड़ दिया। परेशान प्रेमिका ने आत्महत्या करने की कोशिश की। उसके भाई ने उसकी मौत का बदला लेने का फैसला किया, फिर खुद ज़िगलैंड को गोली मार दी। उसे इस बात का जरा भी अंदाजा नहीं था कि गोली हेनरी को लगी या नही। वह गोली एक पेड़ में फंस गई थी। 20 साल बाद तक सब ठीक था लेकिन उसके बाद जब हेनरी ने उस पेड़ को काटने का फैसला किया, तो वही गोली उसके सिर में जा लगी और उसकी मृत्यु हो गई।